Saturday, July 29, 2017

दुकानों मकानों के आगे पट्टे से अधिक भूमि पर निर्माण अतिक्रमण हटाने ही होंगे

- करणी दान सिंह राजपूत -

दुकानों मकानों के आगे या साइड में पट्टे से अधिक भूमि पर बनी पेड़ियां चबूतरे स्लोप अतिक्रमण ही हैं। फुटपाथों​ को ऊंचा निर्माण कर लिया जाना भी अतिक्रमण है। ऊंची दुकान में प्रवेश के लिए दो से अधिक पेड़िया भी अतिक्रमण है। दुकान से अधिक अंडरग्राउंड निर्माण भी अतिक्रमण है।बनाते वक्त सोचा कि अंदर घुस कर कौन देखेगा? दाब लो फुटपाथ के नीचे सड़क हक की जमीन। पेड़ियां स्लोप चौकी के अतिक्रमण से आगे भी सामान सड़क पर रखकर बेशर्मी से कब्जा करना भी अधिकार बन गया।जिसकी जितनी पहुंच उसने उस हिसाब से अतिक्रमण किया। 

बाजारों के आसपास की छोटी सड़कों में गलियों में अतिक्रमणों का यह हाल रहा है कि कई सड़कें तो कोठियों में शामिल कर ली गई। सत्ताधारी और पैसे वाले लोग इस बेशर्मी में सबसे आगे रहे और अब भी वे सड़कों को मुक्त करना नहीं चाहते​, कारण स्पष्ट है कि कोई संगठन व्यक्ति राजनीतिक दल राजनीतिक नेता ऐसी सड़कों को मुक्त करने की मांग भी नहीं करता। अब अतिक्रमण हटाओ अभियान में पालिका प्रशासन और अतिक्रमण हटाओ अभियान के प्रभारी अधिकारी प्रभावशाली नेताओं के अतिक्रमण हटा पाते हैं या नहीं यह उनकी नौकरी पर सवाल उठाने वाले होंगे। 


इसबार राजस्थान में अतिक्रमण हटाने का निर्देश राजस्थान उच्च न्यायालय की ओर से दिया गया है राजस्थान पत्रिका के ग्रुप के संपादक माननीय गुलाब  कोठारी के पत्र को रिट मानते हुए उच्च न्यायालय ने आदेश दिए है। 

संपूर्ण राजस्थान में यह अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जा रहा है। अनेक नगरपालिकाओं ने विधिवत मुनियादी करवाकर समाचार पत्रों में सूचना प्रकाशित करवाकर अतिक्रमण हटाए जाने की घोषणा की है। 

सूरतगढ़ में बाजारों में दुकानों के आगे Footpath ऊंचा कर पेड़ियां बनाकर स्लोप बनाकर अतिक्रमण किए गए हैं। कई भवन भी 10-11 फुट सड़क हक की भूमि पर बनाए गए हैं, बीकानेर रोड पर ये अतिक्रमण हैं। इसकी लिंक सड़कों पर भी है। नगरपालिका को ऐसे अतिक्रमण हटा कर सड़कें मुक्त कराने की चर्चा चल रही है कि मुख्य बाजार में 3 फुट की जगह से आगे का अतिक्रमण दुकानदार हटा लें लेकिन यह 3 फुट की छूट किसने दी है?नगर पालिका प्रशासन यह छूट दे नहीं सकता किसके पास यह लिखित में है कि 3 फुट की जगह छोड़कर अतिक्रमण हटा लिया जाए। 3 फुट की जगह छोड़ने की बात कही जा रही है वह भी तो अतिक्रमण है,जब अभियान अतिक्रमण हटाने का है तब 3 फुट अतिक्रमण रखने की छूट नगर पालिका प्रशासन का कोई भी अधिकारी नहीं दे सकता। कोई सत्ताधारी भी ऐसा निर्देश या छूट नहीं दे सकता।दुकान मकान के आगे पट्टे से अधिक की 3 फुट जमीन उन्हें मिल गई है और वह खुद अतिक्रमण हटाते समय यह 3 फुट का अतिक्रमण मौजूद रख रहे हैं। यह गलत फहमी है। 

नगरपालिका को यह अतिक्रमण हर हालत में हटाना ही होगा। नगरपालिका को चाहिए की सड़कों की चौड़ाई को देखते हुए किनारों पर एक ऊंचाई (एक फुट) के फुटपाथ बनाए ताकि वृद्ध महिलाएं बच्चे आदि आसानी से चल सकें।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog