Sunday, July 16, 2017

राजपूत समाज को ने छेड़े सरकार देवी सिंह भाटी का बयान

आनंद पाल एनकाउंटर के बाद श्रद्धांजलि सभा में उत्तेजना और हिंसा फैलाने के आरोप में पुलिस प्रशासन ने करीब 12000 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया वे पकड़ने के वास्ते छापे मार रही है, जिसका तरीका राजपूत समाज को अपमानित  करने वाले छेड़खानी करने जैसा है।

 इसको लेकर पूर्व सिंचाई मंत्री व पूर्व कोलायत विधायक देवीसिंह भाटी ने एक  बयान दिया है। भाटी ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है राजपूत समाज में, एक साथ इतने लोगों पर मुकदमें दर्ज होना और वो भी हजारों में। ये समाज के साथ गलत हुआ है। भाटी ने पुलिस कार्यवाही पर कड़ा ऐतराज जताया और कहा कि बेवजह राजपूत समाज को परेशान ना किया जाये साथ ही भाटी राजपूत सभा भवन की तलाशी का भी विरोध जताया साथ ही सीएम राजे से अधिकारियों पर अंकुश लगाने की अपील भी की है।

भाटी के इस बयान से सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ। 

 आनंदपाल एनकाउंटर के बाद प्रदेश में उपजे हालातों के बीच अब राजपूत समाज के बड़े नेता इस आंदोलन में कूद पड़े हैं। यही वजह रही कि राजपूत समाज के खिलाफ सरकार की दमनकारी नीतियों के मामले में राजपूत समाज के दिग्गज नेता देवी सिंह भाटी का बड़ा बयान सामने आया है।

जिसमें उन्होंने प्रदेश की भाजपा सरकार को खुली चुनौती देते हुए कहा कि समाज के एक भी निर्दोष व्यक्ति पर आंच आई तो सड़कों पर उतरने को मजबूर होना पड़ेगा। शनिवार 15 जुलाई को जयपुर स्थित राजपूत समाज सभा भवन में घुसकर तलाशी लेने के मामले में एक इंटरव्यू के दौरान देवी सिंह भाटी ने कहा कि इस तरह की रणनीति से आप राजपूत समाज को छेड़ रहे हो। ऐसा नहीं कि आप मुंह में अंगूली घुमा रहे हो और हमारे दांत नहीं है। यह कतई नहीं चलेगा। सभा भवन में आकर तलाशी लेने का पुलिस का यह तरीका सही नहीं है। यह कमजोरी हम कभी नहीं आने देंगे, चाहे सड़कों पर उतरना पड़े।

देवी सिंह भाटी ने कहा कि सांवराद में प्रशासन की रणनीति विफल रही। पहले तो छूट दे दी, फिर 12 हजार लोगों के नाम एफआईआर लिख पूरे समाज को राजस्थान में घेर लिया। आपको अधिकार मिल गया क्या? चाहे जिसे गिरफ्तार कर लो। सरकार और प्रशासन की यह रणनीति एक दिन नहीं चलने देंगे। उन्होंने कहा कि हम किसी पार्टी या सरकार से नहीं बंधे हैं। निर्दोष लोगों को हाथ लगाया तो छोडूंगा नहीं।


देवी सिंह भाटी ने कहा कि मैंने इस संबंध में संगठन के पदाधिकारियों से लेकर सरकार के उच्च प्रतिनिधियों तक यह बात पहुंचा दी है। मुख्यमंत्री तक यह बात पहुंच चुकी है। मैं सीएम से अपील करता हूं कि इस तरह की कार्रवाई हुई तो पूरा समाज सड़कों पर आएगा।


No comments:

Post a Comment

Search This Blog