Monday, June 19, 2017

रामनाथ कोविंद एनडीए के राष्ट्रपति प्रत्याशी घोषित

बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद एनडीए की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार होंगे। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज (19 जून को) इसका एलान किया। कोविंद दलित समुदाय से आते हैं। वो यूपी के कानपुर के रहने वाले हैं और बीजेपी के कद्दावर नेताओं में गिने जाते रहे हैं। वो बीजेपी में अनुसूचित जाति-जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष, महामंत्री और प्रवक्ता के रूप में भी दायित्व निभा चुके हैं। इससे पहले पार्टी मुख्यालय में बीजेपी संसदीय दल की बैठक हुई। इस बैठक में राष्ट्रपति चुनाव और उम्मीदवार पर लंबी चर्चा हुई।  इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी समेत संसदीय बोर्ड के अन्य सदस्य मौजूद थे।


राम नाथ कोविन्द (जन्म

1 अक्टूबर 1945)भारतीय जनता पार्टी के राजनेता हैं। वे राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं तथा सम्प्रति बिहारके राज्यपाल हैं।








राम नाथ कोविन्द


राज्यपाल, बिहार


पदस्थकार्यालय ग्रहण

2015 जन्मअक्टूबर 01,1945.

परौंख, कानपुर देहात जिला ,उत्तर प्रदेशराष्ट्रीयताभारतीयराजनीतिक दलभारतीय जनता पार्टीनिवासझींझक, कानपुर देहात, उत्तर प्रदेशशैक्षिक सम्बद्धतावकालत की उपाधिपेशावकालत, राजनीति, राज्यपाल[1]धर्महिन्दू , कोरी ( कोली )


जीवन परिचय


राम नाथ कोविन्द का जन्म उत्तर प्रदेश केकानपुर जिले की (वर्तमान में कानपुर देहात जिला ) , तहसील डेरापुर के एक छोटे से गांव परौंख में हुआ था। कोविन्द का सम्बन्ध कोरी या कोली जाति से है जो उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति के अंतर्गत आती है। वकालत की उपाधि लेने के पश्चात दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत प्रारम्भ की। वह 1977से 1979तक दिल्ली हाई कोर्ट में केंद्र सरकार के वकील रहे। 8 अगस्त 2015.को बिहार के राज्यपाल के पद पर नियुक्ति हुई। [2]


राजनीति


वर्ष 1991में भारतीय जनता पार्टी में सम्मिलित हो गये। वर्ष 1994 में उत्तर प्रदेश राज्य से राज्य सभा[3] के निर्वाचित हुए। वर्ष 2000में पुनः उत्तरप्रदेश राज्य से राज्य सभा[3] के लिए निर्वाचित हुए। इस प्रकार कोविन्द लगातार 12वर्ष तक राज्य सभा के सदस्य रहे। वह भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे। श्री कोविन्द का नाम भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 19 जून 2017 को एनडीए के सर्वसम्मत राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में घोषित किया.


समाज सेवा


वह भाजपा दलित मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अखिल भारतीय कोली समाज अध्यक्ष भी रहे। वर्ष 1986में दलित वर्ग के कानूनी सहायता ब्युरो के महामंत्री भी रहे।


No comments:

Post a Comment

Search This Blog