Tuesday, June 6, 2017

अडानी अंबानी कारपोरेट घरानों का विकास: किसान कर्ज में- घनश्याम तिवाड़ी

भारतीय जनता पार्टी के विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बाद अब केंद्र की भाजपा नीत एनडीए सरकार की आलोचना करते हुए कहा है कि मौजूदा सरकार में केवल “अडानी-अंबानी जैसे कुछ कॉर्पोरेट घरानों का” “विकास” हो रहा है जबकि किसान कष्ट झेल रहे हैं।

 घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि भारत एक बड़ी आर्थिक शक्ति के तौर पर उभरा है लेकिन भारतीयों का विकास नहीं हुआ है।

 विधायक तिवाड़ी ने कहा, “दीनदयाल जी (उपाध्याय) कहते थे कि कतार के आखिरी आदमी के विकास के बाद लोकतंत्र सफल माना जा सकता है। लेकिन अभी केवल अडानी-अंबानी जैसे कुछ चुनिंदा कारोबारी घरानों का ही विकास हो रहा है।” तिवाड़ी ने कहा, “एक भी किसान ऐसा नहीं है जिस पर कर्ज न हो। किसान अपना दूध सड़क पर फेंक रहा है। बेरोजगारी बढ़ रही है।”

घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि देश की सारी दौलत कुछ लोगों के पास जा रही है।

तिवाड़ी ने कहा, “देश में केंद्रीकृत पूंजीवाद हावी है।”

 मोदी सरकार की आलोचना करने से पहले तिवाड़ी  वसुंधरा राजे सरकार की आलोचना करके  सुर्खियों में आए थे।
 घनश्याम तिवाड़ी ने कहा कि वसुंधरा सरकार द्वारा नया कानून बनाकर पूर्व मुख्यमंत्रियों को आजीवन बंगला, कार और नौकर-चाकर दिए जाने की व्यवस्था कर दी। तिवाड़ी ने इसे “संवैधानिक लूट” बताते हुए वसुंधरा सरकार के इस फैसले की आलोचना की।

तिवाड़ी के अनुसार सीएम वसुंधरा ने ये कानून पांच घंटे में राज्यपाल के दस्तखत के बिना पारित करवा लिया।

 तिवाड़ी के अनुसार राजस्थान के मुख्यमंत्री का सरकारी आवास 8 सिविल लाइंस है जबकि सीएम वसुंधरा बंगला नंबर 13 में रहती हैं जिसकी कीमत दो हजार करोड़ रुपये है। तिवाड़ी ने आरोप लगाया कि वसुंधरा ने ये कानून इसलिए बनाया है ताकि अगला चुनाव हारने पर भी वो बंगले में रह सकें।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog