Tuesday, June 6, 2017

राजस्थान के स्कूलों में प्रधानमंत्री व प्रमुख लोगों की जीवनियां पढ़ने को मिलेंगी

जयपुर,6-6-2017.
 राजस्थान के 500 सरकारी स्कूलों पुस्तकालयों में अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी,आरएसएस के संस्थापक केशव बलिराम हेडगेवार,पं.दीनदयाल उपाध्याय एवं गुरू गोलवरकर की जीवनी पढ़ने को मिलेगी।

राजस्थान के शिक्षामंत्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि पहले चरण में 500 और उसके बाद अगले चरण में सभी सरकारी स्कूलों के पुस्तकालयों में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सहित अन्य लोगों की जीवनी पढ़ने को मिलेगी। आरएसएस से जुड़े लेखक विजय नाहर द्वारा लिखी गई पीएम की जीवनी 'स्वर्णिम भारत के स्वप्न दृष्टा नरेन्द्र मोदी ' पुस्तक में मोदी के जीवन वृतांत का वर्णन किया गया है।

विद्यार्थियों को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पुस्तक 'मेरी 51 कविताएं 'भी पुस्तकालयों  में पढ़ने को मिलेगी। इसके साथ ही पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम आजाद की पुस्तक'तेजस्वी मैन 'एवं भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव द्वारा लिखी गई'असहज पड़ौसी ' पुस्तक पुस्तकालयों​ में उपलब्ध रहेगी।

देवनानी ने बताया कि कुल 73 पुस्तकें सरकारी स्कूलों के पुस्तकालयों में रखवाने की योजना है। इन किताबों से छात्र-छात्राओं को महापुरूषों के विचार और संघर्ष का इतिहास जानने को मिलेगा।

देवनानी का कहना है कि स्कूलों में सूर्य नमस्कार और योग से छात्र-छात्राओं को होने वाले लाभ की जानकारी भी दी जाएगी। देवनानी ने बताया कि राज्य के सरकारी स्कूलों को देश और राजस्थान के इतिहास के बारे में पूरी जानकारी मिल सके इसके लिए वरिष्ठ प्रवक्ताओं को बुलाकर विचार गोष्ठी भी आयोजित कराई जाएंगी।

इधर कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता अर्चना शर्मा ने आरोप लगाया है कि देवनानी सरकारी स्कूलों  को संघ की शाखाओं का रूप देने में लगे है। वे पूरी तरह से संघ के एजेंडे पर चल रहे है।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog