Thursday, June 1, 2017

राज्य मंत्री सुरेंद्र पाल सिंह टीटी के कार्यों की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने खूब प्रशंसा की




कलेक्टर्स पुलिस अधीक्षक सम्मेलन के दूसरे दिवस पर


सेनेटरी नेपकीन कार्य व बिजली चोरी में कमी की हुई सराहना


जयपुर, 1 जून। जिला कलेक्टर्स एवं पुलिस अधीक्षक सम्मेलन के दूसरे दिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने खान राज्यमंत्री श्री सुरेन्द्रपाल सिंह टी.टी. के कार्यों की भूरी-भूरी प्रशंसा की और अन्य मंत्रियों एंव जनप्रतिनिधियों को अग्रणी होकर जनहित के कार्यों को सहजता, सरलता, सुगमता तथा पारदर्शितापूर्ण तरीके से निष्पादित/पर्यवेक्षण करने को कहा।

सेनेटरी डिस्पेंसर मशीने विधायक मद से लगवाना अनुकरणीय

दूसरे दिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सुरेन्द्रपाल सिंह टी.टी. के विधायक मद से सेनेटरी डिस्पेंसर मशीनें लगवाने के कार्य की तारीफ करते हुए अन्य मंत्रियों, विधायकों को अनुकरण करने के निर्देश दिये। उल्लेखनीय है कि श्रीटी.टी. ने निर्वाचन क्षेत्र श्रीकरणपुर की समस्त राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालयों में राज्य की प्रथम सेनेटरी डिस्पेंसर मशीन की स्थापना कर चुके हैं।

सेनेटरी नेपकिन मशीन भारत सरकार की कम्पनी एच.एल.एल.लाईफ लि0 कम्पनी द्वारा लगाई जा रही है। बच्चियां घर पर बने पुराने कपड़े, कपास आदि के नेपकिन पैड प्रयुक्त करती हैं, इस कारण उसमे इंफेक्शन, बीमारी होने का खतरा रहता है। यहॉ तक की मातृत्व सुख में परेशानियां होती हैं। बच्चियॉ विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों की बाजार से नेपकिन खरीदने में संकोच महसूस करती है, यहाँ तक की मासिक पीरियड के कारण बच्चियॉ स्कूल, कॉलेज भी नही जाती है। बाजार के नेपकीन भी तुलनात्मक रूप से महॅगे होते हैं, जबकि इस मशीन से रियायत मूल्य पर 10 रूपये में 3 नेपकिन पैड प्राप्त किये जा सकते हैं।

वैंडिग मशीन में ‘‘नेपकीन इनसेनीटर’’ है जिसमें उपयोगित पैड मशीन में डालने पर अपने आप जलकर राख हो जाते है। उक्त मशीन बाथरूम एरिया में ही स्थापित की जाती है तथा बच्चियां आसानी से उन्हें निस्तारित कर सकती है।

  सेनेटरी नेपकीन मशीन माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम ‘‘स्वच्छ भारत अभियान’’ को बढाने वाला महत्वपूर्ण कदम है।

विद्युत छीजत (चोरी) कम करने में टी.टी. के गोद लिये गांव अव्वल

मुख्यमंत्री ने समस्त मंत्रियों, जिला कलेक्टर्स, विधायकगणों को एक-एक गांव गोद देकर उस गांव में विद्युत छीजत (चोरी) कम करने की जिम्मेदारी दी गई थी। इस कार्य में टी.टी. फिर अव्वल रहे और उनके द्वारा चयनित गांव 3 आर.बी., पंचायत समिति पदमपुर ने पूरे प्रदेश में सभी द्वारा लिये गये गांवों में सबसे कम छीजत हुई है। पूर्व में यहां पर 42 प्रतिशत छीजत थी जो टी.टी. के प्रयासों से 20 प्रतिशत से भी नीचे आ गई है। जिला कलेक्टर्स पुलिस अधीक्षक कॉन्फ्रेन्स की समीक्षा बैठक में यह बात जिला कलेक्टर श्रीगंगानगर की रिपोर्ट पर मुख्यमंत्री ने समस्त सांसदों, विधायकों, जिला कलेक्टर्स को इसी तरह अग्रेसिव होकर कार्य कर बिजली छीजत को कम करने की कार्यवाहीं करने के निर्देश दिये।

उल्लेखनीय है कि जनप्रतिनिधियों में टी.टी. के गोद लिये गये 11 के.वी. फीडर, धरिंगावाली में हुआ सर्वाधिक छीजत सुधार हुआ। उल्लेखनीय है कि टी.टी. ने निर्वाचन क्षेत्र
।के उक्त फीडर को मार्च, 2017 के आखिर में गोद लिया था। दिसम्बर 2016 में इस फीडर में विद्युत छीजत 41.15 प्रतिशत थी जो अप्रैल 2017 में कम होकर 20.30 प्रतिशत रह गई। मुख्यमंत्रा विद्युत सुधार अभियान की जिला स्तरीय बैठक में इस सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा कर टी.टी. को बधाईयां ज्ञापित की थी।


No comments:

Post a Comment

Search This Blog