Monday, June 5, 2017

राजस्थान में मची लूट दीनदयाल वाहिनी रोकेगी-घनश्याम तिवाड़ी

भरतपुर 5-6-2017.

राजस्थान के वरिष्ठ भाजपा विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने रविवार 4 जून को एक बार फिर मुख्यमंत्री और  सरकार के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। तिवाड़ी ने कहा​ कि राजस्थान में लूट मच रही है,इस लूट को दीनदयाल वाहिनी के कार्यकर्ता रोकेंगे।

 भरतपुर में पत्रकारों से बातचीत में तिवाड़ी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर सीधे आरोप लगाए कि सीएम प्रदेश की कई हेरिटेज इमारतों और जंगलों को विदेशी कंपनियों को सौंपने की तैयारी कर रही है।
 तिवाड़ी ने दीनदयाल वाहिनी की चर्चा करते हुए कहा कि अब हमारे कार्यकर्ता इस लूट को रोकने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि वसुंधरा राजे ने विधानसभा में एक विधेयक पास कराया कि एक बार जो सीएम बन जाए उसे आजीवन कैनिबेट मंत्री का दर्जा दिया जाएगा,यह पूरी तरह से गलत है। उन्होंने कहा कि देश के किसी भी प्रांत में इस तरह का कानून नहीं बनाया गया।

 तिवाड़ी ने आरोप लगाया कि वसुंधरा राजे ने दो सरकारी बंगलों पर कब्जा जमा रखा है। एक सरकारी बंगले पर तो 'अनंत विजय' नाम ऐसे लिखवाया गया है जैसे खुद की सम्पति हो। वे खुद इसी बंगले में रह रही हैं।
 सिविल लाइंस स्थित बंगला नं.13 की साज-सज्जा पर पैसा पानी की तरह बहाया गया है, इसे महल का रूप दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में यदि वसुंधरा राजे हार भी गई तो दोनों बंगलों को अपने कब्जे में रखने का पूरा इंतजाम कर रही है।
 उन्होंने कहा कि राज्य में हो रही लूट की खबर यदि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को है तो वे सरकार के खिलाफ जरूर कार्रवाई करें।

उल्लेखनीय है कि 3 जून को ही तिवाड़ी ने राज्य के दो कैबिनेट मंत्रियों यूनुस खान और प्रभुलाल सैनी को कानूनी नोटिस भेजा है। उन्होंने यह कानूनी नोटिस दोनों मंत्रियों द्वारा उन पर 800 करोड़ रूपए की सम्पति अर्जित करने सहित अन्य आरोपों को लेकर दिया है। इस बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में तिवाड़ी ने कहा कि यदि 7 दिन में उन्होंने माफी नहीं मांगी तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई आगे बढ़ाऊंगा।
 तिवाड़ी ने पिछले दो वर्ष से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। वे सार्वजनिक रूप से सीएम पर आरोप लगाने के साथ ही विधानसभा में भी सरकार को घेरते रहे है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी को लेकर भी उन्होंने कई बार सार्वजनिक बयानबाजी दिए हैं
।  भाजपा राज्य इकाई की अनुशंसा पर केन्द्रीय अनुशासन समिति ने तिवाड़ी को कारण बताओ नोटिस जारी किया था,जिसका जवाब देते हुए उन्होंने सीएम एवं प्रदेश अध्यक्ष पर कई आरोप लगाए।





No comments:

Post a Comment

Search This Blog