Thursday, May 25, 2017

मोदी सरकार के 3 साल समारोहों में एनडीए के मुख्यमंत्रियों नेताओं को शामिल नहीं किया गया

नई दिल्ली: भाजपा ने मोदी सरकार के 3 साल पूरे होने के जश्न में एनडीए के मुख्यमंत्रियों और वरिष्ठ नेताओं को शामिल नहीं किया है। पिछले साल की तरह इस साल भी मोदी सरकार के तीन साल की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्रियों मंत्रियों और वरिष्ठ नेताओं का कार्यक्रम तैयार किया गया है। इसमें एनडीए के घटक दल के मुख्यमंत्रियों और उनके वरिष्ठ नेताओं को जगह नहीं दी गई है।
 जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू का नाम इस कार्यक्रम में शामिल नहीं है।
कुछ राज्यों में गठबंधन की सरकार
 कुछ राज्यों में बीजेपी एनडीए के घटक दलों के साथ सरकार चला रही है। लेकिन इनके बीच राजनीतिक संबंध मधुर नहीं है। लिहाजा गैरबीजेपी मुख्यमंत्रियों को इस काम में नहीं लगाया गया है।
एनडीए के घटक दलों के मंत्रियों की लिस्ट तैयार
 बीजेपी ने कश्मीर घाटी में बिगड़े हालात को देखते हुए जश्न कार्यक्रम से दूरी बनाई है। कश्मीर में मोदी सरकार के तीन साल की उपलब्धियां​ गिनाने के लिए मुख्यमंत्री या किसी केंद्रीय मंत्री का कार्यक्रम भी नहीं बना है। यहां कार्यक्रम करने का जिम्मा प्रदेश इकाई पर ही छोड़ दिया गया है।
जम्मू में उत्तराखंड के सीएम बताएंगे खूबियां
 जम्मू के लिए पार्टी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, केंद्रीय राज्य मंत्री अजय टमटा और प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना को भेजने का कार्यक्रम बनाया है।
पश्चिम बंगाल में बीजेपी धुंआधार प्रचार करेगी

मोदी सरकार के 3 साल जश्न के जरिए पार्टी अपने आधार के विस्तार में भी जुटी हुई है। यही वजह है कि जश्न के कार्यक्रमों को उन राज्यों में ज्यादा करने की तैयारी है जहां बीजेपी अपने पैर पसारना चाह रही है। बीजेपी का पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के ख़िलाफ़ करीब 60 से अधिक कार्यक्रम करने की योजना है।

तोमर, स्मृति ईरानी समेत रमन व रघुवर दास करेंगे ममता के खिलाफ प्रचार
केंद्र सरकार के मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, सुरेश प्रभु, संतोष गंगवार और स्मृति ईरानी सरीखे मंत्री ममता के खिलाफ आवाज़ बुलंद करेंगे । इसके अलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह और झारखंड के सीएम रघुवर दास को भी ममता के खिलाफ उताराने की तैयारी है।
गैर बीजेपी शासित राज्यों में कई कार्यक्रम
पश्चिम बंगाल के बाद बीजेपी ओडिशा केरल और कर्नाटक में भी आक्रमक तरीके से मोदी सरकार के तीन साल के जश्न को रखने की तैयारी में है।
बीजेपी उन राज्यों में ज्यादा जोर दे रही है,जहां  2019 में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सके या फिर सरकार बनाए।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog