Friday, April 7, 2017

सूरतगढ़ में गौरव पथ बनेगा, कब्जे हटेंगे

इंदिरा सर्किल से चरण सिंह चौक तक मुख्य सड़क चौड़ी बनेगी

-करणीदान सिंह राजपूत - सूरतगढ़ 7 अप्रैल 2017. इंदिरा सर्किल से चौधरी चरण सिंह चौक तक बाजार में से निकलती हुई सड़क गौरव पथ के रूप में बनाई जाएगी और इसकी वर्तमान चौड़ाई को बढ़ाया जाएगा।

6 अप्रैल को हुई व्यापारियों की बैठक में  सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता सुशील विश्नोई ने यह स्थिति स्पष्ट की, उन्होंने कहा कि सड़क की चौड़ाई बढ़ाकर बीच में डिवाइडर बनाया जाएगा। इस सड़क का नाम गौरव पथ के नाम से होगा। सड़क के दोनों तरफ पानी निकासी के लिए नालियां होंगी। गौ

रव पथ निर्माण के लिए 6 अप्रैल को विधायक राजेंद्र सिंह भादू की उपस्थिति में एक बैठक दुकानदारों की आयोजित की गई थी।विधायक ने कहा कि गौरव पथ के निर्माण का उद्देश्य शहर का सौंदर्यीकरण करना है।

 1.कुछ दुकानदारों की राय थी कि सड़क की चौड़ाई बढ़ाने के लिए थड़े आदि हटा दिए जाएं।

2.कुछ व्यापारियों  की राय  थी कि दुकानों के आगे 3 फुट जगह छोड़कर नालों का निर्माण कराया जाए।

3. कुछ व्यापारियों ने कहा की यथा स्थिति में गौरव पथ का निर्माण करवा दिया जाए।यथा स्थिति में अतिक्रमणों से 80 फुट की सड़क कहीं 40 कहीं 50 फुट की बची हुई है।वर्तमान में अनेक दुकानदारों ने अपनी दुकानों के आगे 6  फुट  के फुटपाथ रोक कर 4-5 फुट ऊंचाई तक निर्माण कार्य करवा रखे हैं। यहां तक भी संतुष्ट नहीं हुए और उसके बाद आगे सड़क पर स्लोप  बनाकर अतिक्रमण कर रखे हैं। यह चौड़ाई फुटपाथ और सड़क पर 12 फुट तक अतिक्रमण है। मतलब इतनी सड़क की जमीन अतिक्रमण में दुकानदार उपयोग कर रहे हैं। यह सड़क मास्टर प्लान में 80 फुट चौड़ी प्रदर्शित की हुई है लेकिन वर्तमान में दोनों ओर के अतिक्रमण से सड़क की चौड़ाई कहीं 40 फुट और कहीं 50 फुट की है।सालों से अतिक्रमण करके पक्के निर्माण कर लिए हैं वे कभी नहीं चाहेंगे कि निर्माण तोड़े जाएं लेकिन गौरव पथ रोजाना या बार-बार नहीं बनेगा। 

इसका निर्माण नियमानुसार और निर्धारित चौड़ाई के अनुसार ही होना चाहिए। अतिक्रमण करने वाले चाहे कोई भी हों वे अपने अतिक्रमणों को कायम रखना चाहेंगे लेकिन यह स्थिति मंजूर नहीं की जा सकती। पिछले तीन चार सालों में इस सड़क के अतिक्रमण हटाने के लिए कई प्रार्थना पत्र दिए गए लेकिन नगर पालिका ने उन पर कार्यवाही नहीं की। नगर पालिका के अधिकारी और कर्मचारी कोई भी दफ्तर से बाहर निकल कर इन अतिक्रमणों को रोकने के लिए कभी आगे नहीं आया। अतिक्रमणों के समाचार लगातार समाचार पत्रों में सचित्र छपते रहे। सड़क की चौड़ाई घटती रही। इस सड़क पर हर समय दुर्घटना का खतरा रहता है और आवागमन बाधित रहता है। सड़क की चौड़ाई निश्चित रूप से बढ़ाई जानी चाहिए। दुकानदारों ने जानते-बूझते हुए अतिक्रमण कर रखे हैं और उसका उपयोग कर रहे हैं तथा अनेक ने किराए पर दे रखा है। ऐसी स्थिति में सड़क की चौड़ाई बढ़ाने के लिए कड़ाई करने के लिए जरूरत पड़े तो वह भी की जानी चाहिए। यह निश्चित है कि सड़क को निर्धारित मापदंड के अनुसार ही बनाया जाएगा। विभाग अपने नियम के हिसाब से ही चलेगा। अभी अनूपगढ़ में गौरव पथ के निर्वाण वास्ते व्यापारियों को समझाया गया है  व कड़ी चेतावनी भी दी गई । सूरतगढ़ की स्थिति भी यही है।व्यापारियों ने दुकान से आगे जो भी निर्माण किए हुए हैं उनको तत्काल हटा लेना चाहिए। दुकानदारों को जब-जब अवैध निर्माण हुए समाचार पत्रों में सारी स्थिति छपती रही मगर जानते बूझते अतिक्रमण किए गए। ऐसे अतिक्रमणों को गौरव पथ के निर्माण के वास्ते सख्ती से हटा दिया जाना चाहिए। फुटपाथ का मतलब है कि पैदल चलने वालों की जगह है, फिर दुकानदारों ने वहां पर निर्माण कैसे कर लिया।अगर दुकानदार खुद अतिक्रमण नहीं हटाते हैं तो नगर पालिका  हटाए और उसका सारा खर्चा नगर पालिका एक्ट के अनुसार दुकानदार से वसूल भी करे।



No comments:

Post a Comment

Search This Blog