Wednesday, March 8, 2017

सूरतगढ़ के आबकारी निरीक्षक व घमूड़वाली SHO घुक्करसिंह गिरफ्तार:एसीबी कार्यवाही


शराब दुकानों से मंथली वसूलने वाले पुलिस व आबकारी अधिकारी रिश्वत लेते गिरफ्तार । 

घमुड़वाली SHO घुक्करसिंह दस हजार लेते पुरानी आबादी में गिरफ्तार । 

सूरतगढ के आबकारी इंस्पेक्टर सुभाष गोदारा व सिपाही सुनील कुमार  पन्द्रह हजार लेते पुलिस थाना में पकडे़ ।

बीकानेर ACB टीम की बड़ी कार्यवाही ।

श्रीगंगानगर. शराब ठेकों का सही संचालन करने वास्ते रिश्वत लेते हुए घमूड़वाली थाना प्रभारी, आबकारी निरीक्षक व आबकारी दल के सिपाही को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीमों ने कार्रवाई कर मंगलवार को गिरफ्तार किया।

बीकानेर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो पुलिस अधीक्षक ममता बिश्नोई ने बताया कि 26 फरवरी को श्रीगंगानगर की शंकर कॉलोनी निवासी आकाशदीप ने ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रजनीश पूनिया के समक्ष शिकायत दी थी कि घमूड़वाली में कम्पोजिट शराब दुकान तेजभान शर्मा के नाम से स्वीकृत है। जिसमें वह कर्मचारी है। शराब दुकान घमूड़वाली थाना क्षेत्र में है, जहां थाना प्रभारी शराब की दुकान  चलने देने और परेशान नहीं करने की एवज मे हर माह दबाव डालकर 10 हजार रुपए रिश्वत मांग रहा है। इस शिकायत का सत्यापन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पूनिया ने 27 फरवरी व 2 मार्च को किया। सत्यापन के दौरान थाना प्रभारी ने दुकान निर्बाध चलने देने की एवज में 20 हजार रुपए रिश्वत मांगी। सत्यापन के दोनों दिन थाना प्रभारी ने पांच-पांच हजार रुपए रिश्वत के ले लिए। वहीं शेष दस हजार रुपए बुधवार को देना तय हुआ। 


वहीं इसी परिवादी ने एक ओर शिकायत दी कि चक 2 एनएम में समूह संख्या 291 आवंटित है। जिसमें मुझे मोनिका ने कर्मचारी रखा हुआ है। यह शराब ठेका आबकारी निरीक्षक सूरतगढ़ क्षेत्र में है। सूरतगढ़ आबकारी निरीक्षक सुभाष 7 हजार रुपए मंथली लेने के लिए नाजायज रूप से परेशान करता है। बंधी नहीं देने पर दुकान पर आकर मंथली नहीं मिलने पर दुकान बंद कराने की धमकी देता है। वहीं सिक्यूरिटी राशि भी नहीं उठाने दी जाएगी।

 इस शिकायत का सत्यापन कराया गया, जिसमें पदस्थापन अवधि अक्टूबर 2016 से मार्च 2017 तक 5 हजार रुपए मंथली के रूप में रिश्वत की मांग करना तथा पूर्व में 17 हजार रुपए मंथली रिश्वत राशि लेना तथा बकाया मंथली 8 हजार रुपए व 7 हजार रुपए जिला आबकारी अधिकारी व सहायक आबकारी अधिकारी के लिए कुल 15 हजार रुपए की मांग करना सत्यापित हुआ।

दोनों शिकायतों का सत्यापन सही पाए जाने पर एसपी के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रजनीश पूनिया के नेतृत्व में एक टीम ने जिला आबकारी कार्यालय श्रीगंगानगर में कार्रवाई कर आबकारी निरीक्षक सुभाष व आबकारी दल के सिपाही सुनील कुमार को पंद्रह हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। 

 पुलिस निरीक्षक मनोज कुमार की टीम ने घमूड़वाली थाने में कार्रवाई कर थाना प्रभारी घुक्करसिंह को दस हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। वहीं ब्यूरो की दूसरी टीम ने घमूड़वाली पुलिस थाने में दबिश की कार्रवाई कर परिवादी से दस हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए थाना प्रभारी घुक्कर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। 

 जैसे ही आबकारी निरीक्षक व थाना प्रभारी के रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने की खबर पुलिसकर्मियों व आबकारी कर्मचारियों को लगी तो उनमें हड़कंप मच गया। जो पुलिसकर्मी थाने से बाहर थे। वे कार्रवाई के दौरान वहां नहीं आए। वहीं आबकारी कार्यालय में स्थिति भी यही हालत रही।

ब्यूरो टीम की कार्रवाई के दौरान आबकारी कार्यालय में कोई अधिकारी नहीं था। अधिकारियों के कमरे खाली पड़े थे। इस दौरान ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने कर्मचारियों को कहा कि वे अधिकारियों को बुलाए लेकिन शाम तक वहां कोई अधिकारी नहीं आया।

इस मामले में रिश्वत लेते पकड़े गए आबकारी निरीक्षक सुभाष की ओर से अधिकारियों के लिए भी अलग से रिश्वत की राशि लेने का मामला सामने आया है। इस पर ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रजनीश पूनियां ने कहा कि इस मामले में अधिकारियों व कर्मचारियों की भूमिका भी गहनता से जांच की जाएगी।

थाना अधिकारी और आबकारी निरीक्षक की एसीबी द्वारा गिरफ्तारी के समाचार में पूरे जिले में हलचल मचा दीहै।






No comments:

Post a Comment

Search This Blog