Friday, March 10, 2017

होळी री मसखरी 2017:हंसो हंसाओ:खेलो रंग गुलालः

होली: हंसी मजाक चुटकियों से भरी ठिठोली

बुरा ना मानो होली है


================

राजेन्द्र भादू
जनता जागे

हरचंदसिंह सिद्धु
चुनाव की तैयारियां शुरू

गंगाजल मील  
 ढब्बू हवा निकळयोड़ो

पृथ्वीराज मील    
  टाबर पणो

बलराम वर्मा बल्ले
टिकट री उतांव

शोपत मेघवाल
बड़ी ताकत

राकेश
नुवो नेता सगळा सूं अगाड़ी

रामप्रताप कासनिया
अबकी तो लड़नो है


अशोक नागपाल          
हवा निकळी चिणे री डोडी

काजल छाबड़ा            
सत्ता रो सुख

सुनील छाबड़ा      
 ओ जेड़ा काजळ दा घर आला

श्रीमती राजेश सिडाना    
की की करां

श्रीमती रजनी मोदी      
 जिलाध्यक्ष बहुत छोटा पद सी,हुण चंगा है।












हरबक्सकौर बराड़        
कमाल की नेता

लालचंद सांखला        
नोहर में भी सौ की स्पीड

अमित भादू                
सौ मांय सूं  एक सौ दस



महेश सेखसरिया        
ड्रम

रमेश माथुर              
चुस्त बंदा

मुरली पारीक            
 पैलां आपरो घर


प्रेमप्रकाश राठौड़        
जोशीला

गौरव बलाना            
म्हारे नेता को टैम आसी

नरेन्द्र घिंटाला
पंप के लगायो दरसनां सूं गया

बाबूसिंह खीची          
अब कोनी खिंचे

अशोक आसेरी        
चुप

विजय गोयल
लुप्त बंदा

राजेन्द्र तनेजा
सब पीछे

पीताम्बरदत्त शर्मा
सारी गणना उलझ गई

शरणपालसिंह
नाम ऊपर पहुंच गया था

परमजीतसिंह बेदी        
मीठा जहर

एन.डी.सेतिया        
सो रहे हैं

विष्णु शर्मा              
 घणो फूलणो माळौ

श्याम मोदी
ढोल में पोल

डूंगर राम गेदर      
 सगळा आंदोलन सफाचट

परसराम भाटिया
ठंडा नेता

गुरदर्शनसिंह सोढ़ी      
कित्थे रेंहदे हो जी

वली मोहम्मद              
बुजुर्ग बण ग्या

इकबाल कुरैशी              
शांत नेता

बनवारीलाल  मेघवाल
बाबो करसी मेर

संजय धुआ
माळी माळी तां हुण बी चलदी है

पी.के.मिश्रा                
साई किल

लक्ष्मण शर्मा  
रेल रेल अर रेल

मदन औझा
पाक्यो सिट्टो

महावीर भोजक      
कींगो है कुणसी पारटी

ओम पुरोहित
उफाण पर राजनीति

प्रवीण अरोड़ा
पुराणी तस्वीर

राजकुमार अग्रवाल        
किन्ना खरा सोना

सुशील जेतली            
समाजसेवा

महावीर सैनी
दौड़ मांय हणै भी आगै

चांदमल वर्मा
कुछ उम्मीद है

बनवारी लाल
शहर संवारो

रामचन्द्र पोटलिया      
दसवां शुरू हो गया

फकीर चंद शर्मा        
फकीरी रा भी मजा है      

ओनाळसिंह
पुलिस तो पुलिस होवै

नारायणसिंह भाटी      
लोग चावै गश्त

प्रवीण भाटिया          
एबीसी एसीबी में कितना फरक


दिलात्मप्रकाश जैन
खुद रा हाथ बाळ्या,कठै सूं आवाज नीं निकळी

घनश्याम शर्मा
चंदण लगाणै मांय मास्टरी

 सुखवंत
बेलीपो

रवि खुराना
मौका चूक

बीरबल सैनी
सजधज वापसी

साहित्यकार

मनोज स्वामी
आपरे मुद्दे मांय सावधान

हरिमोहन रूंख        
हरि भजण री टैम नेड़ी


परमानन्द दर्द
कहां हो


राजेश चड्ढा              
टाबर परणा दियो,ध्यान राख

रामेश्वर दयाल तिवाड़ी
कौनसी चाल

नन्दकिशोर सोमाणी
लिखारो

साहबराम स्वामी        
दूजे अखबार री तलाश करो

खबरां रा धणी

करणीदानसिंह राजपूत
सरकार बदलसी

हरिमोहन सारस्वत      
नुवों नाम होवैलो बिलो लाइन

जितेन्द्र                
फोटू

हनुमंत
कुण बतावै ताकत

ब्रह्मप्रकाश
बारै री कोनी खावां


मनोज स्वामी
बैरागी फेर किसो क

मालचंद जैन          
पक्को शिकारी

राजेन्द्र पटावरी
अब तो दुकानदारी

विजय स्वामी            
स्टोरी चाली

प्रवीण जैन
अब कीं कर

शिव सारड़ा
स्याणो बाणियो

नवल भोजक
कमाऊ

सुभाष राजपूत
बांदरपणो

गोविंद भार्गव
केवल नाम

राजेन्द्र उपाध्याय    
राजा राजे सूं कॉलोनी भाळै।

प्रेमसिंह सूर्यवंशी
सगळा सूं बणै


महेन्द्र जाटव
खाट खड़ी करतो रैसी


कैलाश सोनी
बहकै अर चहकै

सुरेन्द्र निराणियां        
बांटण रो काम

कृष्ण सोनी आजाद  
सगळा भरस्ट

विनय तिवाड़ी        
ज्यादा हुसियारी मरा नाखै

आशा शर्मा              
हूं भी पतरकार

सुमित्रा मांगीलाल
स्टोरी बणसी आच्छी

डाक्टरां रो टोळौ

मनोज अग्रवाल        
 बेहोश मांय कमाई

विजय भादू
सगळा हो ग्या ठंडा

जितेन्द्र बोभिया          
आच्छो
ललित राठी
पहचाण बणाई

राजेन्द्र छाबड़ा,विजय बेनीवाळ,अरविंद बंसल, संजय बजाज

एपेक्स डागधरां रो टोळ

के.एल.बंसल          
अपणा अच्छा काम

पर्वतसिंह          
गळा कान सब खोल दूं

जी.डी.शर्मा
गौड री किरपा

अक्षय भंसाली            
अक्षय


इन्द्र चुघ

बेट्यां बढावौ

राहुल छाबड़ा          
ख्याती पर

विजय अरोड़ा            
सब ठीक

जे.एम.डे.                
अच्छे हैं

विशाल छाबड़ा          
 नए दांत

अनिल पैंसिया            
अच्छा काम

हरप्रीतसिंह                
प्रीत का खेल

सतीष मिश्रा            
बातां भी करसी ईलाज भी करसी

रतनलाल जोशी             
 चूरण सूं पेट साफ हो जासी

----
सुरेन्द्र छाबड़ा
व्यापारियों की मेर

दर्शन भगत परनामी      
समाजसेवा भी चलती रहे

रायचंद डागा          
उपाधियां हंसावै जी सोरो कर दै



.

No comments:

Post a Comment

Search This Blog