Thursday, January 19, 2017

भाजपा सरकार की तानाशाही के विरुद्ध सरदार शहर की यह भीड़ लोगों का दिमाग बदलेगी:


यह सभा हुए कितने ही दिन बीत जाएं मगर हुंकार का असर दिन प्रतिदिन बढता जाएगा। यह सोच कर यह समाचार योगी गोपालनाथ का लेकर आगे सांझा कर रहा हूं- करणीदानसिंह राजपूतः

सरदारशहर में काँग्रेस की "पर्दाफाश रैली" में प्रमुखता से छाया रहा।असिंचित क्षेत्र में सिंचाई पानी की माँग व आंदोलन का मुददा....

6 जनवरी को सम्भाग में काँग्रेस पार्टी की बड़ी किसान सभा सरदारशहर में आयोजित हुई जिसमें प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलेट, विधानसभा प्रतिपक्ष नेता रामेश्वरलाल डूडी, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व सिंचाई मंत्री एवं विधायक भंवरलाल शर्मा सहित बिकानेर सम्भाग के जनप्रतिनिधि व पार्टी के पदाधिकारी पहुँचे।

 सभा में नोहर असिंचित क्षेत्र संघर्ष समिति के प्रतिनिधी मण्डल ने भी ब्लॉक काँग्रेस अध्यक्ष सोहन ढिल, किसान काँग्रेस कमेटी के प्रदेश महासचिव धर्मपाल गोदारा, पूर्व चेयरमैन राजेन्द्र चाचाण, जिलापरिषद सदस्य गोरीशंकर थोरी एवं वरिष्ठ काँग्रेस नेता व मन्दरपूरा पूर्व सरपंच शंकरलाल शर्मा के नेतृत्व में पहुँच कर संघर्ष समिति अध्यक्ष (महंत योगी गोपाल नाथ) की तरफ से ज्ञापन दिया  व तीनों नेताओं से मिले।
असिंचित क्षेत्र की और से विधायक व पूर्व मंत्री भंवरलाल शर्मा ने माँग रखी कि मेरे मंत्री कार्यकाल में साहवा लिफ्ट का काम शुरू हुआ एवं उसके बाद भी परियोजना का निर्माण और विस्तार सुचारु रूप से चलता रहा, लेकिन 2003 में वसुन्धरा सरकार के आते ही पूरी परियोजना को ठप कर दिया गया और शेष रहे निर्माण कार्य को बन्द करके सरदारशहर, नोहर, भादरा व तारानगर के बचे हुए गाँवों को हमेशा के लिए सिंचाई सुविधा से काटकर अनकमाण्ड घोषित कर दिया गया जो इस क्षेत्र के किसानों के साथ बहुत बड़ा अन्याय हुआ। मेरी मौजूदा सरकार से माँग है कि सरकार किसान हित में फैसला ले और वंचित क्षेत्र को सिंचाई से जोड़े। उन्होंने सभा में उपस्थित पार्टी के सभी बड़े नेताओं से भी माँग की कि आप भी इस समस्या को प्रमुखता से विधानसभा में उठाकर सरकार पर दबाव बनाएँ ताकि इस क्षेत्र के किसानों की माँग पूरी हो सके, और अगर यह सरकार माँग पूरी नही करती है तो अगले विधानसभा चुनावों में आपकी सरकार बने तो आप इस समस्या का समाधान करेंगे ऐसा वादा करके जाएँ। नही तो मैं चारों तहसीलों के लाखों किसानों को लेकर तारानगर में महापड़ाव डालूँगा व उसका पूरा खर्च मैं खुद वहन करूँगा। सभा में बोलते हुए विधानसभा प्रतिपक्ष नेता रामेश्वरलाल डूडी ने कहा कि यह इस क्षेत्र की बहुत बड़ी समस्या है जिसके लिए नोहर व तारानगर तहसीलों के किसान लगातार आंदोलन कर रहे हैं, और इस माँग को लेकर पिछले दिनों नोहर क्षेत्र के किसान कई दिनों तक गोरखाना में टंकी पर भी चढे रहे, सरकार को इसे गम्भीरता से लेना चाहिए। और उन्होंने इस मुददे को अगले सत्र में विधानसभा में उठाने का भी आश्वासन दिया।
पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इस मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि अगर अगली बार सरकार बनी तो इस समस्या पर जरूर ध्यान दिया जाएगा। काँग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलेट ने सभा में बोलते हुए क्षेत्र के किसानों को भरोसा दिलाया की हम इस समस्या को सरकार के सामने विध ानसभा में और बाहर जोरशोर से उठाते रहेंगे जब तक सरकार इस मुददे का कोई ठोस समाधान नही निकालती है। उन्होंने कहा कि मैं वादा करता हूँ अगर अबकी बार काँग्रेस की सरकार बनी, मुख्यमंत्री चाहे कोई भी बने पर इस समस्या का प्रमुखता से समाधान किया जाएगा ये मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ। सभा में सरदारशहर, साहवा, तारानगर, राजगढ़, चूरू, रतनगढ, डूगरगढ, लूणकरणसर, पल्लू, रावतसर, नोहर व भादरा सहित आसपास क्षेत्र के करीब एक लाख किसान उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog