Friday, November 18, 2016

सूरतगढ़ थर्मल आवासीय कॉलोनी व ग्रामों में सांस लेना मुश्किल:


- स्पेशल रिपोर्ट -करणीदानसिंह राजपूत -
सूरतगढ़ सुपर पावर थर्मल की राख खुले में ढुलाई होने से थर्मल आवासीय कॉलोनी सहित आसपास के ग्रामों पर संकट छाया हुआ है तथा वृद्धों का बीमारों का सांस लेना मुश्किल है और विभिन्न बीमारियां फैल रही है। थर्मल राख खुले वाहनों में ढुलाई होने के विरोध में पहले कई बार आवाजें उठी हैं। क्षेत्रीय विधायक राजेन्द्रसिंह भादू को भी अवगत कराया गया। इँटक यूनियन कई बार पत्र दिए। बसपा के जिला परिषद के सदस्य डूंगरराम गेदर ने विशेष पत्र लिखा जिसमें विस्तृत हवाला था। थर्मल के उच्चाधिकारियों की ओर से कुछ भी नहीं कहा गया न कोई व्यवस्था स्थाई रूप से की गई।
पिछले कई महीनों से खुले वाहनों में सीमेंट कंपनिया राख की ढुलाई करवा रही है। असल में तो उनमें राख का लदान ही नहीं करवाया जाना चाहिए।
अब हालात खराब हो रहे हैं तब एक बार फिर थर्मल की इंटक यूनियन ने चेताया है।
यूनियन के अध्यक्ष श्याम सुंदर और महामंत्री बलीराम मेघवाल ने विद्युत निगम के जयपुर उच्चाधिकारी को सूचित किया जिसमें चेतावनी है। 


No comments:

Post a Comment

Search This Blog