सोमवार, 29 अगस्त 2016

नोहर पत्रकार सम्मेलन:सच्च लिखने का आह्वान:सरकारी नीतियों का विरोध:राजस्थानी सामग्री का आह्वान:





 पत्रकारों की पेंशन बंद करने पर सरकार की आलोचना:
- करणीदानसिंह राजपूत -
राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के प्रसिद्ध नोहर कस्बे में 28 अगस्त 2016.को बीकानेर संभाग के पत्रकारों का सम्मेलन कई मुद्दों की चर्चा और आह्वान किए जाने के कारण आगे की योजनाओं के बनाने व संघर्ष का मार्ग तय किए जाने में महत्वपूर्ण यादगार में रहेगा। इस सम्मेलन में सच्च लिखे जाने का आह्वान किया गया और यहां तक कहा गया कि कितना भी कड़वा लिखना पड़े सच्च लिखें व सच्च दें। साप्ताहिको पाक्षिकों व लघु समाचार पत्रों को विज्ञापन  बंद कर जिस तरह से कुचले जाने की कार्य पद्धति चल रही है उस पर भी पत्रकारों ने एकजुट होने का आह्वान किया। 
 
यह भी कहा गया कि जो सरकार पत्रकारों को कुचलने पर आमादा रहती है वह दुबारा सत्ता में नहीं आती। पत्रकारों से यह भी आह्वान किया गया कि वे राजस्थानी भासा की मान्यता में साथ दें व अपने अखबारों में इंटरनेट की सामग्री भरने के बजाय राजस्थानी भासा की सामग्री देकर पाठकों तक पहुंचाएं।
 ये मुद्दे पढऩे में साधारण लग सकते हैं लेकिन पत्रकारिता जगत को मजबूती प्रदान करने वाले हैं। 


    इस कार्यक्रम में राजस्थान बाल सरंक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ,राजस्थान समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती कमला कस्वां ,पंचायत समिति प्रधान अमर सिंह पूनिया, इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जनर्लिस्ट के राष्ट्रीय सचिव विपिन धुलिया,प्रदेशाध्यक्ष जगदीश नारायण जेमन ,पुष्पांजलि पारीक,उपाध्यक्ष मनीष भारद्वाज, विश्वदेव रॉय, आर. पी .यादव, पण्डित बृज किशोर शर्मा, कोषाध्यक्ष राज कुमार गुप्ता, रामानुज पंचोली ,वरिष्ठ पत्रकार सत्य पारीक,भामाशाह सन्तलाल मोदी,चन्द्रमोहन छाजेड़ एवम् नोहर नगरपालिका उपाध्यक्ष श्री राम व्यास मंचासीन रहे। समारोह में पत्रकारिता के क्षेत्र में आ रही अड़चनों पर चिंता व्यक्त करते हुए सरकार से इसके समाधान की मांग की गई।
बाल सुधार आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने पत्रकारों से आह्वान किया की वे समाज के हित में अपनी कलम की ताकत का इस्तेमाल करें! हमेशा सच का साथ दें,चाहे कड़वा लिखना पड़े! उन्होंने कहा की पत्रकारिता को एक व्यवसाय नहीं बल्कि समाज सेवा के रूप में देखना चाहिए!
अखिल भारतीय साहित्य परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री विपिनचंद्र पांडेय ने कहा कि देश की आजादी के बाद आजाद भारत में आम लोगों के हक की लड़ाई पत्रकार अपनी कलम के माध्यम से लडऩे में अहम योगदान निभा रहे हैं।
 आईएफडब्ल्यूजे के प्रदेशाध्यक्ष जगदीशनारायण जैमन ने कहा कि 24-25 26 सितंबर को जैसलमेर में अंतर्राष्ट्रीय पत्रकार सम्मेलन होगा। कमला कस्वा ने पत्रकारों की भूमिका की सराहना करते हुए सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाने की अपील की।
    वरिष्ठ पत्रकार व पिंकसिटी प्रेस क्लब जयपुर के पूर्व अध्यक्ष सत्य पारीक ने राज्य सरकार को पत्रकारों की पेंशन बन्द करने के लिए आड़े हाथों लिया।
राजस्थानी के प्रमुख साहित्यकार एवं वरिष्ठ पत्रकार मनोजकुमार स्वामी सूरतगढ़ ने सरकार की कार्यपद्धति पर जबरदस्त चोट करते हुए कहा कि जो सरकार पत्रकारों को कुचलने की नीतियों पर आमादा रहती है,वह दुबारा सत्ता में नहीं आ पाती। स्वामी ने पत्रकारों से अपील की कि मायड़ भासा की मान्यता के लिए साथ दें व अपने अखबारों में इंटरनेट की सामग्री भरने के बजाय राजस्थानी सामग्री को डालें।
    फेडरेशन के राष्ट्रीय सचिव विपिन धुलिया ने पत्रकारों से एकजुट होकर कार्य करने की अपील की! उन्होंने कहा की सरकार की कोई भी योजना तब तक सफल नहीं होती,जब तक मीडिया उसका प्रचार प्रसार न करे! सरकार को भी चाहिए की वो पत्रकारों के हित में काम करे ।
हुलिया ने कहा कि विभिन्न स्थानों पर पत्रकार सम्मेलन आयोजित किए जा रहे हैं। इनमें पत्रकारों की समस्याओं को सूचीबद्ध किया जा रहा है। समस्याओं को प्रधानमंत्री व संबंधित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को अवगत कराया जाएगा।

आईएफडब्ल्यूजे के प्रदेशाध्यक्ष जगदीशनारायण जैमन ने कहा कि 24-25 26 सितंबर को जैसलमेर में अंतर्राष्ट्रीय पत्रकार सम्मेलन होगा।
अमर सिंह पूनिया ने पत्रकारों को बुद्धिजीवी वर्ग बताते हुए अपनी जिम्मेवारी का ईमानदारी से निर्वहन करने के लिए धन्यवाद दिया।
कार्यक्रम में सम्भाग के साठ वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ पत्रकार बन्धुओं को स्मृति चिन्ह देकर एवम् पगड़ी पहना कर सम्मानित किया गया । करीब 50 पत्रकारों को सम्मानित किया गया। वरिष्ठ पत्रकारों की श्रेणी में सम्मानित होने वालों में लाल मोहम्मद जन ,वरिष्ठ पत्रकार चन्द्रमोहन छाजेड़ ,मरु न्यूज के किशन लाल मोदी,बलराम शर्मा, सन्तोष कुमार तिवाड़ी, श्यामसुन्दर तंवर ,सुंदरलाल मिश्रा, लियाकत भट्टी, बेदी दायमा, सत्य पारीक, आत्माराम गुरु,कृष्ण सोनी आजाद सूरतगढ़,ओम प्रकाश शर्मा सूरतगढ़,नंद किशोर गोयल ,नरेश असीजा ,ओम पारीक रावतसर, टेकचन्द शर्मा भादरा, कुंजबिहारी महर्षि हनुमानगढ़, गोपीचन्द वर्मा भादरा, लक्ष्मीनारायण बंसल हनुमानगढ़, रोशनलाल भाकर हनुमानगढ़, सत्यनारायण सोनी, पवन पंडा नोहर, विद्याधर मिश्रा नोहर,देवराज लाटा चुरू आदि मुख्य रहे ।


समाजसेवा के क्षेत्र में पालिका उपाध्यक्ष श्री राम व्यास को भी स्मृति चिन्ह एवम् पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के संयोजक बाबूलाल भारती,राजकुमार नागल,विद्याधर मिश्रा ने सम्मेलन में पधारने पर अतिथियों का आभार व्यक्त किया एवम् वरिष्ठ पत्रकार श्याम सुंदर तंवर ने आंगतुक अतिथियों एवम् कार्यक्रम में उपस्थित पत्रकार बन्धुओं को धन्यवाद ज्ञापित किया ।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें