Sunday, June 19, 2016

कांग्रेसी नेता बलराम वर्मा और सावित्री की एफआईआर:जैसी दर्ज कराई:


बरखा पानी की निकासी सही होती तो झगड़ा ही नहीं होता:
- करणीदानसिंह राजपूत -

सूरतगढ़ 19 जून 2016.
नगरपालिका बोर्ड की अनदेखी के कारण इंजिनियरों व ठेकेदारों ने मनमर्जी के लेवल से सड़कों व नालियों को बनाया और घटिया भी बनवाया और अभी भी इसी तरह बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। नालियों से घरों का पानी नहीं बहता और वर्षा का तेज गति का भराव वाला पानी सड़कों के ऊपर से भी नहीं निकल पाता। पूरा शहर नगरपालिका के निकम्मेपन की परेशानी भोगता है। पालिका के अध्यक्ष व ईओ को बाढ़ की हालत में भी शहर को देखने की नैतिकता नहीं होती। 

जिला कलक्टर जिले में बैठके करते हैं नगरपालिकाओं,नगरपरिषद और ग्राम पंचायतों तक को सचेत किया जाता है लेकिन सभी जगह अनदेखी चलती है। पालिका व अन्य के गलत निर्माएा को भी देखा नहीं जाता। अखबारों में छपता हे तो उस पर कोई पाषर्द भी बोलना नहीं चाहता। ऐसी हालत में हर आदमी अपने स्तर पर पानी से बचाव करता है और फिर कभी कभी गरमा गरमी में झगड़े फसाद हो जाते हैं। आपस में झगड़े होते हैं तो पुलिस में मुकद्दमें भी होते हैं। कौन किसे समझाए की हालत होती है जिससे हर कोई बचना चाहता है कि अपने भी लपेटे में न आ जाएं। व्यक्ति दोनों ओर से नेता हों या राजनैतिक दलों के कार्यकर्ता तो और भी विकट स्थिति।
11 जून शाम को भारी वर्षा हुई पानी निकासी की हालत घंटो तक प्रमुख रूप से बाजारों में भी नहीं थी सो मोहल्लों में तो हालत अधिक खराब रही होगी। पानी का झगड़ा हुआ। उस समय कौन कौन लोग पास में थेï और उसमें कौन सच्चा और कौन झूठा? दोनों ओर से प्राथमिकियां दर्ज हो गई जिनका अनुसंधान पुलिस करने में लगी हुई है।
दोनों ओर से एफआईआर दर्ज हुई है जो हूबहू यहां दी जा रही हैं। 


घायल सावित्री देवी पत्नी राधेश्याम कुम्हार की एफआईआर 11 जून की रात में दर्ज करवाई गई तथा बलराम वर्मा की एफआईआर अगले दिन शाम को दर्ज हुई। दोनों एफआईआर में सामने वाले के हाथ में कुल्हाड़ी और तेजधार दार हथियार बतलाए गए हैं। पुलिस अनुसंधान में जो भी घटना सामने आएगी उसकी प्रतीक्षा की जानी चाहिए। बलराम वर्मा का ईलाज सूरतगढ़ में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में हुआ। सिर की चोट लगी तथा टांके लगाए गए। दूसरे पक्ष को बीकानेर में ईलाज करवाना पड़ा। उनके भी चोटें लगी व पट्टे बंधे। दोनों मुकद्में पुलिस उप निरीक्षक महावीर प्रसाद को सौंपे गए हैं।
1. राजस्थान ब्राह्मण महासभा युवा प्रकोष्ठ के नगर अध्यक्ष राधेश्याम उपाध्याय के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल पुलिस इंसपेक्टर थानाधिकारी से मिला और कहा कि कुलवंतशर्मा को बलराम द्वारा झूठा फंसाया जा रहा है। झगड़े के वक्त वह अपनी दुकान में था। इस मंडल में राजेन्द्र पारीक,साहिल कौशिक,जगमोहन शर्मा,पिंटू आदि थे। बलराम वर्मा पर दर्ज पुराने मुकदद्मों को खंगाला जा रहा है।
फिलहाल दोनों ओर की एफआईआर देखें और पढ़ें।


सावित्री देवी पत्नी राधेश्याम कुम्हार की एफआईआर

 बलराम वर्मा की एफआईआर

No comments:

Post a Comment

Search This Blog