Tuesday, March 29, 2016

दिल्ली में शिक्षकों से जनगणना आदि कार्य नहीं करवाए जाऐंगे:आप सरकार:


- करणीदानसिंह राजपूत -
दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने निर्णय किया है कि शिक्षकों को जनगणना व अन्य किसी ीाी कार्य में नहीं लगाया जाएगा। वे केवल शिक्षा देने का कार्य ही करेंगे। इसके साथ ही एक और निर्णय किया है कि स्कूलों के प्रधानाचार्य भी अध्यापन कार्य ही करेंगे। अभी तक स्कूलों की व्यवस्था में वे लगे रहते थे। चाहे पानी का मामला हो चाहे शौचालय में पानी पहुंचने नहीं पहुंचने का मामला होता था। अब इस प्रकार के कार्यों के लिए अलग से व्यवस्था की जाएगी।
दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार का बजट दिनांक 28 मार्च को उप मुख्यमंत्री ने पेश किया तब उन्होंने यह घोषणा की।
उन्होंने कहा कि इससे दिल्ली में पढ़ रहे छात्र छात्राओं को शिक्षा पूरी मिल सकेगी। इससे अभिभावक भी खुश होंगे व छात्र छात्राओं का शेक्षिक विकास अधिक हो सकेगा।
दिल्ली की आम आदमी सरकार का भाजपा और कांग्रेस दोनों प्रमुख पार्टियां विरोध करती रही हैं। इनके लिए यह महत्वपूर्ण सबक है कि जिन राज्यों में इनका या अन्य पार्टियों का राज है, वहां पर यह व्यवस्था करवाई जा सकेगी या नहीं?
राजस्थान में तो हालत बहुत ही बुरे हैं। यहां पर बड़े से बड़े शिक्षक को चुनाव आद में लगा छोटा लिपिक तक दुत्कार देता है और गरिमा के अनुरूप संबोधन तक नहीं करता। शिक्षकों को कार्यालय में लिपिकों की जगह पर काम करवाया जाता रहता है।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog