Friday, February 27, 2015

पीएम मोदी का पानी दुरूपयोग का आरोप झूठा-पूर्व विधायक सिद्धु


पूर्व विधायक स.हरचंदसिंह सिद्धु ने किसानों ने कभी पानी का दुरूपयोग नहीं किया:
पानी आंदोलन में सूरतगढ़ के वर्तमान विधायक भी शामिल रहे:कौन सच्चा है?
सूरतगढ़, 27 फरवरी। 
पूर्व विधायक हरचंदसिंह सिद्धु ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उस भाषण को कंडम किया कि श्रीगंगानगर हनुमानगढ़ इलाके के किसान सिंचाई पानी को बेवजह अधिक इस्तेमाल करते हैं जिससे यहां कि जमीनें सेम ग्रस्त होकर अन उपजाऊ हो गई हैं। सिद्धु ने कहा कि यहां सिंचाई में बहाव की प्रणाली प्रचलित है और उसके अनुरूप किसानों को कभी भी पूरा पानी नहीं मिला। जब पूरा पानी नहीं मिला तब अधिक सिंचाई का तो कोई मतलब ही नहीं रहा है। 
इस इलाके का किसान पानी की मांग ही करता रहा है। सिद्धु ने कहा कि वर्तमान भाजपा विधायक राजेन्द्रसिंह भादू भी पानी मांग के घड़साना आंदोलन में थे।
यदि वह मांग गलत थी तो राजेन्द्र भादू को पार्टी ने टिकट देकर विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी क्यों बनाया? प्रधानमंत्री ने झूठा कहा तो पार्टी को उनको भी बताया जाना चाहिए था कि वे गलत बात कह गए हैं। सिद्धु ने कहा कि इस बाबत न तो विधायक भादू कुछ बोले हैं और न वसुंधरा राजे बोली जो मंच पर प्रधामंत्री के पास में ही मौजूद थी।
सिद्धु ने आरोप लगाया कि दुनियां में कच्चे तेल की कीमतें काफी नीचे चली गई लेकिन हमारी सरकारें उनके भाव कम नहीं कर रही हैं तथा आम लोगों के साथ किसानों को भी लूटने में लगी हैं।
सिद्धु ने कहा कि किसान को अपनी फसल की पूरी कीमत ही नहीं मिल रही है।
किसान के उत्पादन तो ीााव से नीचे गिर रहे हैं तथा उसके उपयोग में आने वाली कारखाने की उत्पादित सभी वस्तुओं के भावों में वृद्धि होती जा रही है।  सिद्धु ने कहा कि किसान तो फिर भी दिन रात लगा रह कर इतना उत्पादन कर रहा है कि सरकार के पास में रखने को भंडार गृह नहीं है। भारतीय खाद्या निगम इस उत्पादन को संभाल नहीं पाता और वह नष्ट हो रहा है तथा इस प्रकार से खराब होने वाले अन्नाज को शराब बनाने वाली कंपनियों को बेच दिया जाता है।
प्रधानमंत्री यहां जिस मृदा स्वास्थ्य कार्ड का विमोचन करने आए उस योजना की असलियत भी पोल खोल रही है कि इनके पास में प्रयोगशालाएं नहीं है तथा जहां पर हैं वहां कर्मचारी ही नहीं है। उन्होंने प्रमाण देते हुए कहा कि श्रीगंगानगर की प्रयोगशाला में कर्मचारी की ड्यूटी चुनाव में लगाई हुई थी।
सिद्धु ने कहा कि प्रधानमंत्री के यात्रा कार्यक्रम समारोह आदि पर ढाई हजार करोड़ रूपए विभिन्न राज्यों में कुल लगे लेकिन उसका कोई लाभ नहीं मिला।
सिद्धु ने आरोप लगाया कि दिल्ली में करारी हार की शर्म को उतारने के लिए यह करोड़ों की चपत लगाने का कार्यक्रम बनाया गया। सिद्धु ने कहा कि यह धन तो जनता का ही है जिसका दुरूपयोग किया गया।
सिद्धु ने कहा कि प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार समाप्त करने की घोषणाएं करने में लगे हुए हें लेकिन उनकी ही राजस्थान की भाजपा सरकार में खुले आम भ्रष्टाचार हो रहा है।
सिद्धु ने आरोप लगाया कि नगरपालिकाओं व पुलिस थानों में जम कर भ्रष्टाचार हो रहा है।
सिद्धु पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog