Saturday, July 13, 2013

पूर्व विधायक हरचंदसिंह हीरो:विधायक गंगाजल मील राज में भ्रष्टाचार


नगरपालिका को करोड़ों रूपयों के भूखंडों की नीलामी रोकनी पड़ी:

पूर्व विधायक का आरोप था कि जमीनें बेच बेच कर धन का कर रहे हैं दुरूपयोग:

अधिषाषी अधिकारी पृथ्वीराज मील को सूरतगढ़ से स्थानान्तरित कर दिया गया:

पालिकाध्यक्ष व अधिशाषी अधिकारी पर भ्रष्टाचार के आरोपों पर सरकार की कार्यवाही शुरू हो गई।

खास खबर- करणीदानसिंह राजपूत-

सूरतगढ़, पूर्व विधायक हरचंदसिंह सिद्धु ने भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग के साथ आमरण अनशन का नोटिस दिया था,जिस पर सरकार ने सख्त कार्यवाही शुरू की। अत्यंत गंभीर आरोप था कि पालिकाध्यक्ष बनवारीलाल मेघवाल और अधिशाषी अधिकारी पृथ्वीराज जाखड़ पालिका की करोड़ों रूपयों की जमीने बेच कर प्राप्त धन का दुरूपयोग करने में लगे हैं। इसके कई तथ्य भी दिए गए। नगरपालिका का 115 करोड़ रूपयों का बीकानेर नगर विकास न्यास से भी अधिक का बजट केवल सात आठ मिनट में पारित कर दिए जाने का भी उल्लेख था। सडक़ पर सडक़ बनाने आदि के आरोप भी थे। बैनरों पर प्रचार पर अनापशनाप रकम खर्च किए जाने का आरोप भी था।

सचिवालय के निर्देश पर कार्यवाही शुरू हुई और अधिशाषी अधिकारी पृथ्वीराज जाखड़ को यहां से स्थानान्तरित कर दिया गया।

इसके साथ ही बेशकीमती जमीनों की नीलामी को रोका गया। अब नीलामी करने से पहले राज्य सरकार की स्वीकृति लेनी होगी।

नगरपालिका ने 11,12 और 15 जुलाई को की जाने वाली नीलामी रोकी। इसमें बीएसएनएल के पीछे राजीव गांधी मार्केट,सैनी गार्डन के पश्चिम में राजीव गांधी आवासीय योजना,सदर थाने के पूर्वी दिशा में भूखंडों की नीलामी रोकी गई। नगरपालिका में आने जाने वाले ठेकेदारों को तो बहुत पहले ही राज्य सरकार का आदेश आते ही मालूम पड़ गया था। आम लोगों के लिए नगरपालिका ने राजस्थान पत्रिका में एक छोटा सा विज्ञापन छपवाया जो 11 जुलाई 2013 के अंक में छपा।

सचिवालय की ओर से सिद्धु की शिकायत कार्यवाही के लिए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को भिजवा दी गई है,जिसमें प्राथमिक जांच के बाद मुकद्दमें भी होंगे।

Wednesday, July 3, 2013

कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार में महिलाओं के उत्पीडऩ अपराध बढ़े :


भाजपा प्रदेश महिला मोर्चा की बैठक में श्रीमती राजेश सिडाना ने भाग लिया:

खबर- करणीदानसिंह राजपूत-






सूरतगढ़, भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में प्रदेश मंत्री श्रीमती राजेश भाग लेकर आई हैं और उन्होंने बताया कि इस बैठक में उत्तराखंड में आई आपदा में सहायता भिजवाने के साथ ही महिलाओं की संगठनात्मक भूमिका और प्रदेश में कांग्रेस राज में महिलाओं की दयनीय हालत पर विचार व्यक्त किए गए।

बैठक का उदघाटन श्रीमती वसुंधरा राजे ने दीप प्रज्जवलित कर किया। वे मुख्य अतिथि के रूप में पधारी थीं। राजे ने उत्तराखंड में आई आपदा पर प्रदेश के सभी जिलों में महिला मोर्चा को कम से कम दस हजार रूपए एकत्रित कर भिजवाने का आह्वान किया। राजे ने कहा कि कांग्रेस राज में प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार बहुत बढ़े हैं। इसके अलावा महंगाई के कारण हर परिवार का बजट गड़बड़ा गया है। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में अपनी ताकत लगा कर कांग्रेस को जड़ों से उखाड़ फेंके। महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सरोज पाण्डेय ने अपने उदबोधन में संगठन की मजबूती का आह्वान किया।प्रदेशाध्यक्ष सुमन शर्मा ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। महिला उत्पीडऩ में प्रदेश आगे हो रहा है और इसकी जिम्मेदारी कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार की है।भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरण माहेश्वरी एवं राष्ट्रीय महामंत्री दर्शना जरदोष ने भी महिलाओं की संगठनात्मक शक्ति पर विचार रखे। महिला मोर्चा की प्रदेश महामंत्री सरोज प्रजापत ने राजनैतिक प्रस्ताव पढ़ा जिसे सर्व सम्मति से पारित किया गया। यह बैठक 24 जून को जयपुर में सम्पन्न हुई जिसके कुछ फोटो यहां प्रस्तुत हैं।


Search This Blog