Thursday, June 20, 2013

सोनिया गांधी ने थर्मल पावर की दो सुपर क्रिटिकल इकाईयों का शिलान्यास किया:


सूरतगढ़ में सोनिया व अशोक गहलोत ने आम सभा को संबोधित किया

सुपर क्रिटिकल इकाइयों की क्षमता 660-660 मेगावाट


खास खबर- करणीदानसिंह राजपूत-


सूरतगढ़, 20 जून। कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने बीस जून को सुपर थर्मल पावर स्टेशन की 2 सुपर क्रिटिकल सातवीं और आठवीं इकाईयों का शिलान्यास किया। समारोह की अध्यक्षता राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की।


    थर्मल में इस समारोह के बाद श्रीमती सोनिया गांधी ने सूरतगढ़ के स्टेडियम मैदान पर आम सभा को संबोधित किया। उन्होंने देश की प्रगति पर भाषण देते हुए कहा कि तोडफ़ोड़ करने में भी कुछ ताकतें लगी हुई है जिससे विकास की गति कम होती है। विकास रूकता है। सोनिया ने मंच से उतरते ही भीड़ की ओर आगे बढ़ कर अभिवादन स्वीकार किया व हाथ लहराते हुए पंडाल में चक्कर लगाया। कुछ ज्ञापन सोनिया को भीड़ में से सौंपे गए। पंडाल में चक्कर लगाते समय मुख्यमंत्री अयाोक गहलोत व अन्य नेता तथा एसपीजी के जवान साथ थे।

सभा को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी संबोधित किया व अपने कार्यकाल में बहुत विकास किए जाने का दावा किया।

विधायक गंगाजल मील ने अंत में धन्यवाद दिया। मील ने कांग्रेस के इतिहास का ब्यौरा देते हुए कहा कि भाजपा के राजा महाराजा लूटते रहे। उन्होंने वसुंधरा राजे पर भी कटाक्ष किया कि पिछले चार सालों में लूटा हुआ धन एडजस्ट करती हुई वो अब जनता में आई हैं। मील ने भाजपा को भी कोसा। मील ने कहा कि सिंगरासर माइनर स्वीकृत होने के बाद उस पर काफी बजट स्वीकृत हुआ है जिससे आगे का कार्य संचालित होगा। मील ने बिजली की क्रिटिकल इकाइयों के शिलान्यास को सौगात बतलाया। मील ने कहा कि इलाका सूर्य की तरह चमक रहा है। मील ने कहा कि इलाके पर सोनियाजी व अशोक गहलोत का आशीर्वाद है।

     इस सभा में 1 लाख लोगों की भीड़ जुटाने का निर्धारित किया हुआ था लेकिन लोगों का अनुमान है कि करीब 25 हजार लोग आए जिनमें महिलाएं भी शामिल थी। लोगों का अनुमान है कि एक मुरब्बे में फैले स्टेडियम मैदान में एक लाख लोगों की क्षमता है लेकिन उसके चौथे हिस्से में ही पंडाल डोम लगे हुए थे जिनमें अवरोधक व रास्ते भी थे।

इस भीड़ के लिए श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी व नेता कई दिनों से लगे हुए थे।।

सूरतगढ़ की सभा से पहले वे थर्मल में उस स्थल पर पहुंची जहां पर दोनों क्रिटिकल इकाईयों का प्लास्कि पंडाल लगा हुआ था। वहां पर शिलान्यास पट्ट का अनावरण किया। शिलान्यास स्थल पर वे हेलिकोप्टर से पहुंची और वहां से  हेलिकोप्टर से ही सूरतगढ़ सभा स्थल पर पहुंची। वे थर्मल में केवल शिलान्यास के समय तक ही पांच सात मिनट ही रूकी।

थर्मल के शिलान्यास स्थल पर एसपीजी की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था थी जिससे वहां पर अनुमति पत्रों के पास सहित पहुंचे पत्रकारों को काफी देर तक प्रवेश नहीं करने दिया गया। काफी देर बाद केवल पांच पत्रकारों को ही अनुमति दी गई। सुरक्षा में लगे एसपीजी के एक अधिकारी ने कारण बताया कि यहां पर पत्रकारों की पूर्व में व्यवस्था की हुई नहीं है,इसलिए प्रवेश नहीं दिया जा सकता। पत्रकारों ने बाद में तय किया व तीन चैनल वालों को,एक पत्रकार को व एक फोटोग्राफर को भिजवाया। कई अधिकारियों को भी पास हाने के बाद भी परिचयपत्र नहीं होने पर भीतर नहीं जाने दिया गया। 








 



No comments:

Post a Comment

Search This Blog