शनिवार, 25 जून 2011

शब्द चित्र: मैं नौजवान भारत का विक्रमादित्य सिंह कहलाऊं।

मैं नौजवान भारत का, संघर्षों से जूझता, लम्बा कूदता, ऊंचा चढ़ता,    आगे बढ़ता जाऊं, आकाश से बातें करता,विक्रमादित्य सिंह कहलाऊं।
प्रस्तुत कर्ता- करणीदानसिंह राजपूत
:ञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञ

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें