Sunday, May 29, 2011

राष्ट्रीय उच्च मार्ग नं 15 के आस पास की जमीन मालिकों की नींद हराम

सरकारी विकास योजनाओं में जमीने आवाप्त होने की खबरों से बेचैनी
खारिज हुए टीसी रकबे गैर कानूनी खरीदने वाले लोगों के लाखों रूपए मिट्टी में जायेंगे
    करणीदानसिंह राजपूत
सूरतगढ़। सूरतगढ़ शहर के बीच में से गुजरते राष्ट्रीय उच्च मार्ग नं 15 के आसपास का संपूर्ण क्षेत्र व्यावसायिक होते जाने के कारण बेशकीमती होता गया था लेकिन सरकारी विकास योजनाओं की खबरों से उच्च मार्ग के साथ वाले भू खंड मालिकों की नींद हराम हो गई है। करोड़ों रूपयों की जमीनें इन विकास योजनाओं में नए बनाए जाने वाले रास्तों में और अन्य कार्या में आवाप्त होंगी।
भूखंड मालिकों ने बढ़ती कीमतों में करोड़ों रूपए बनाने के चक्कर में जमीनें खरीदी भी जो सरकारी डीएलसी दरों से काफी अधिक थी, जिसमें सरकार को स्टाम्प ड्यूटी के नाम पर नाम मात्र की रकम दी गई थी। अब नींद हराम होने का कारण यह है कि सरकार जमीनें आवाप्त करेगी उसको भुगतान डीएलसी दरों पर होगा और करोड़पति लोगों को जमीनों की कीमतें केवल लाखों में ही कमल पाऐंगी। इसमें बड़े बडे़ धनी लोग ही नहीं बल्कि प्रभावशाली राजनैतिक लोग भी बेचैन हो रहे हैं। इसमें वे लोग भी हैं जो भूमि खरीद फरोख्त का धंधा करते हैं।
    वे लोग भी बुरी तरह से फंसे हैं जिन्होंने नगरीय क्षेत्र में आने वाली खारिज हो चुकी कृषि भूमि अवैध रूप में खरीदी ताकि उससे कई गुना अधिक कमाया जा सके। इस जमीन का तो उनको एक धेला भी नहीं मिलेगा। लाखों रूपयों के बदले में खाली कोड़ियां भी नहीं मिलेंगी। असल में तो उनके लाखों रूपए उसी दिन ही लुट गए जिस दिन उन लोगों ने गैर कानूनी ढं़ग से खरीदारी की। आश्चर्य तो यह है कि राजस्व तहसील में सारा दिन इसी प्रकार के कामों में लगे कुछ समझदार लोग भी कमाई के लालच में फंस गए और उचंती रकम देकर जमीनें ली। असल में उनको प्रचलित सरकारी कार्य प्रणाली से यही लगा की लाखों लगा कर करोड़ों की कमाई कर लेंगे। सरकारी अमला कुछ करता तो है नहीं। लेकिन इस प्रकार के समझदार लोगों को यह मालूम नहीं था कि सरकार की अनेक विकास योजनाएं राष्ट्रीय उच्च मार्ग के आसपास आने वाली हैं और उसमें जमीनें भी आवाप्त होंगी। मेरे एक नजदीकी कानूनविद् की टिप्पणी मिली के बड़े बड़े लोगों की पैंटें गीली हो रही है, पसीने चल रहे हैं।
     राष्ट्रीय उच्च मार्ग पिछले कुछ सालों से करोड़ों की कमाई के चक्क्र में अतिक्रमण बढ़ते गए तथा बढ़ती कीमतों पर भूखंड बिकते गए। छोटे से छोटा भूखंड भी इकरार नामों पर अधिक से अधिक कीमत पर आगे से आगे बिकता रहा और बेचने वाले माला माल होते रहे। कुछ सालों से आसपास में खातेदारी जमीनों के भाव भी दिल्ली और मुम्बई से भी आगे निकल गए।
व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्
 स्वाद की दुनिया के बादशाह
बर्थ डे हो या मैरिज एनीवर्सरी या कोई उत्सव
हमारे केक से मनाईए
पाइनेपल 0 मेंगो 0 ओरेंज 0 स्ट्राबेरी 0 चॉकलेट 0 स्पेशल ड्राईफ्रूट केक 0
पेस्ट्री 0 डिनर रोल 0 पीजा 0 पेटिज 0 क्रीम रोल 0 मीठे और नमकीन बिस्कुट 0
शिव बिस्कुट बेकरी    आजाद चौक  भग्गूवाला कुआ रोड सूरतगढ़
फोन 01509 220529 मो ़ 94133 77540
शुभेच्छु- सोहनलाल अग्रवाल, पपीन्द्रकुमार, शिव रतन, बालकिशन
व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्
आज जमाना इंटरनेट का है आपकी बात एक क्षण में देश और दुनिया में पहुंच जाती है
करणी प्रेस इंडिया इंटरनेट की प्रमुख ब्लॉग साइट है जिस पर आप सब रंगीन देख सकते हैं
इस पर अपने हर प्रकार के प्रचार विज्ञापन आदि के लिए संपर्क कर सकते हैं।
करणीदानसिंह राजपूत,
कार्यालय शॉप नं-23, करनाणी धर्मशाला,
सूरतगढ़ जिला श्रीगंगानगर

मोबाइल नं ़ 91 94143 81356
0000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000
राजपूत टेलीकॉम    मोबाइल एसेसरीज और रिपेयर
23,करनाणी धर्मशाला, सूरतगढ़
प्रो ़ योगेन्द्र प्रताप सिंह    मोबा- 9929976699   
व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्व्
                               

No comments:

Post a Comment

Search This Blog